सभी की तरह

मैं भी मतलबी हूँ, सभी की तरह,
मैं भी आपका दोस्त हूँ, सभी की तरह|

बीन लो ख़ुशी सबके अधूरेपन में,
मैं भी अधुरा हूँ, सभी की तरह|

आपकी जुस्तजू मुझे गुदगुदाती है,
मैं भी हँसता हूँ, सभी की तरह|

फिर क्यों बढ़ाते हो हाथ अपना,
मैं भी साया हूँ, सभी की तरह|

कैसी उम्मीद है तुम्हे उसूलों से,
मैं भी खोकला हूँ, सभी की तरह|

सजाते हैं सब अपना एक आशियाँ ,
मैं भी उसमे क़ैद हूँ, सभी की तरह|

Advertisements
%d bloggers like this: